सही डाइट चुनकर बच सकते हैं गठिया से

AajKaAanad    23-Mar-2020
Total Views |
आजकल स्वास्थ्य संबंधी सबसे बडी परेशानियों में से एक है हमारे शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढना. यूरिक एसिड कार्बन, नाइट्रोजन और हाइड्रोजन का हीट्रोसाइ्क्लिक कम्पाउंड है तथा पेशाब का सामान्य घटक है. अधिकतर यूरिक एसिड खून में घुल जाता है, फिर गुर्दे उसे छान देते हैं और वह पेशाब के जरिए बाहर निकल जाता है.


Diet_1  H x W:
 

इन्हें हो सकती है ज्यादा समस्या
यूरिक एसिड प्यूरीन से भरपूर खाद्य पदार्थों, फ्रू्नटोज के ज्यादा सेवन तथा गुर्दों द्वारा खराब उत्सर्जन की वजह से बढ सकता है. जिन लोगों में ट्यूमर तेजी से बढ रहे हों. उनमें यूरिक एसिड का स्तर बढने की ज्यादा संभावना होती है, खासकर मेटास्टेटिक कैंसर, मल्टीपल मायलोमा से संबंधित ट्यूमर होने पर. वंशानुगत तथा मेटाबॉलिज्म की जन्मजात खामियां इसका कारण हो सकती हैं |
 
प्यूरीन वाले खाद्य पदार्थ उपयोगी
हमारा शरीर प्यूरीन के ब्रेकडाउन द्वारा अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालता है. प्यूरीन बहुत से खाद्य पदार्थों में शामिल होता है. यूरिक एसिड के अधिक जमावडे को खत्म करने के लिए हमें इन चीजों को अपने भोजन में शामिल करना चाहिए: मेवे और पीनट बटर, लो फैट चीज व आइस, क्रीम, पुडिंग, फल व फलों का रस, कॉफी व चाय, चावल और सोडा, कुकीज और केक |
 
ये हो डाइट प्लान
सुबह जागने के बाद एक गिलास नींबू पानी या दो गिलास सादे पानी को पीकर एक कप चाय, १-२ बिस्कुट और पानी में भीगे ५ बादाम खाएं. सुबह का पहला भोजन पौष्टिक हो जैसे सब्जियों का बना उपमा/ दलिया/ओट या दो रोटियां सब्जी के साथ. इसमें करीब २०० ग्राम फल या नींबू पानी भी होना चाहिए. दोपहर के भोजन में सलाद, तीन रोटियां या दो छोटी कटोरी चावल, एक कटोरी दाल, रायता या दही और एक कटोरा भर कर सब्जी. शाम के समय चाय/नींबू पानी/नारियल पानी पिएं |